Menu

You are here

होम / अस्वीकरण

अस्वीकरण

  • इस पोर्टल डिजाइन, विकसित और राजस्व , वित्त मंत्रालय के विभाग के तत्वावधान में राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र द्वारा आयोजित है। इस वेबसाइट के लिए सामग्री को राजस्व विभाग द्वारा प्रदान की जाती हैं ।
  • हालांकि सभी प्रयासों सटीकता और इस पोर्टल की विषयवस्तु की मुद्रा सुनिश्चित करने के लिए बनाया गया है, वही कानून के एक बयान के रूप में नहीं लगाया जाना चाहिए या किसी कानूनी प्रयोजनों के लिए प्रयोग किया जाता है । राजस्व विभाग सटीकता, पूर्णता उपयोगिता के संबंध में किसी भी जिम्मेदारी को स्वीकार नहीं करता है या अन्यथा , सामग्री की । उपयोगकर्ताओं को सत्यापित करने के लिए / संबंधित सरकारी विभाग (एस) और / या अन्य स्रोत ( एस) के साथ किसी भी जानकारी की जाँच करें , और वेबसाइट में उपलब्ध कराई गई सूचना के आधार पर कार्य करने से पहले किसी भी उचित पेशेवर सलाह प्राप्त करने के लिए सलाह दी जाती है । कोई घटना में सरकार या राजस्व विभाग , किसी भी खर्च, हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी सहित सीमा के बिना , अप्रत्यक्ष या परिणामी हानि या क्षति , या किसी भी खर्च , हानि या उपयोग से उत्पन्न होने वाली किसी भी प्रकार की क्षति, या उपयोग की हानि, डेटा का हो जाएगा के बाहर या इस वेबसाइट के उपयोग के संबंध में उत्पन्न होने वाली ।
  • अन्य वेबसाइटों के लिंक है कि इस वेबसाइट पर शामिल किया गया है जनता की सुविधा के लिए ही प्रदान की जाती हैं । राजस्व विभाग की सामग्री या सहबद्ध वेबसाइटों की विश्वसनीयता के लिए जिम्मेदार नहीं है और जरूरी नहीं कि उनके अंतर्गत प्रकट दृष्टिकोण का समर्थन या गारंटी नहीं है हर समय ऐसे सम्बद्ध पृष्ठों की उपलब्धता।
  • इस पोर्टल पर छापा सामग्री हमारे पास एक मेल भेजकर उचित अनुमति लेने के बाद नि: शुल्क पुनरूत्पादन किया जा सकता है। तथापि, सामग्री का पुनरूत्पादन किया जा करने के लिए और एक अपमानजनक ढंग से या गुमराह करने के संदर्भ में इस्तेमाल किया जा करने के लिए नहीं है। जहां कहीं भी सामग्री प्रकाशित या दूसरों को जारी किया जा रहा है , स्रोत प्रमुखता से स्वीकार किया जाना चाहिए । हालांकि, इस सामग्री को पुन: पेश करने की अनुमति किसी भी सामग्री जो एक तीसरी पार्टी का कॉपीराइट होने के रूप में पहचाना जाता है के लिए नहीं दी । ऐसी सामग्री का पुनरूत्पादन करने के लिए प्राधिकरण विभागों / सम्बन्धित कॉपीराइट धारकों से प्राप्त किया जाना चाहिए ।
  • इन नियमों और शर्तों के द्वारा शासित है और भारतीय कानूनों के अनुसार लगाया जाएगा । इन नियमों और शर्तों के तहत उत्पन्न होने वाले किसी भी विवाद भारत के न्यायालयों के अनन्य क्षेत्राधिकार के अधीन किया जाएगा ।